Home >>> सोनभद्र / सिंगरौली >>> *खुलेआम उर्जान्चल में बिक रहा जहर का घोल कोरेक्स* -! *शक्तिनगर थानाध्यक्ष के समक्ष उर्जान्चल के युवाओं का छलका दर्द-!* *रिपोर्ट,के सी शर्मा*

*खुलेआम उर्जान्चल में बिक रहा जहर का घोल कोरेक्स* -! *शक्तिनगर थानाध्यक्ष के समक्ष उर्जान्चल के युवाओं का छलका दर्द-!* *रिपोर्ट,के सी शर्मा*

*शक्तिनगर।सिंगरौली*

पुलिस के लाख प्रयास के बाद भी पुरे उर्जान्चल में नशे के सौदागर अपना जाल बिछाकर पुलिस की आँख में धूल झोकते हुए,मेडिकल स्टोर की आड़ में
लोगो की हसी खुसी जिंदगी में जहर का घोल पिला रहे है।

ताजा मामला है शक्तिनगर थाने का । जहा भाजपा के एक युवा नेता चितरंजन गिरी और उनके साथ उनका एक युवा साथी ।

शक्तिनगर के प्रभारी निरीक्षक से अचानक कहने लगे कि उर्जान्चल के युवाओं को कोरेक्स रूपी जहर पिला कर उनकी जिंदगी ये नशे के सौदागर बर्बाद कर रहे हैं।
सर कुछ कीजिये।
शिकायत में यह युवा अपनी अभिव्यक्ति में में दर्द बयां कर रहा था।
उस युवा के आँखों मे युवाओं की जिंदगी में जहर घोलने वालो के प्रति आक्रोश और युवाओं के प्रति चिंता झलक रही थी ।

उस वक्त यह पत्रकार भी वही पर बैठा हुआ था।
यह युवा अपने साथियों के साथ थाने में बुलाई गई बैठक में शिरकत करने गया था ।

बैठक में थानाध्यक्ष के यह कहने पर की यदि आपके क्षेत्र में कोई समेस्या हो तो बताइये।
इसी क्रम में उक्त युवा ने अपने उदगार व्यक्त किये थे।

आपको बता दे कि कुछ दिन पहले ही इस कलमकार ने उर्जान्चल में कोरेक्स रूपी जहर के बिक्री का हब शक्तिनगर बन चुका है शीर्षक से एक खबर प्रकाशित व प्रसारित किया था।जिसकी पुष्टि भी हो रही थी ।

सिंगरौली परिक्षेत्र के उर्जान्चल में नशे के ये तस्कर खुलेआम कोरेक्स बेचते हैं ।
सिंगरौली जिले की पुलिस इन्हें बड़ी खेप के साथ पकड़ भी चुकी है।
ये नशे के सौदागर जो साफ साफ कहते हैं कि सब को महीनवारी देता हूं इसलिए मै खुलेआम ब्यापार कर रहा हु।

उत्तर प्रदेश -मध्य प्रदेश के सिंगरौली – सोनभद्र जिले की सीमा क्षेत्र में स्थित सिंगरौली परिक्षेत्र के उर्जान्चल में ये नशे के सौदागर वर्षो यह कारोबार सफेद पोशों व पुलिस की सरपरस्ती में से करते चले आरहे है ।
न जाने इन्होंने कितने घर व युवाओं को तबाह कर दिए और आगे कितना कर देंगे, यह तो अभी भविष्य के गर्भ में है।

लेकिन यह सीलसिला तो अंतहीन सीलसिला बन चुका है। जो लगता है कि यह उर्जान्चल की नियति बन गया है।
जो निश्चित ही बेहद चिन्ता जनक है।

यही चिंता तो शक्तिनगर थाने के प्रभारी निरीक्षक के समक्ष चितरंजन गिरी की याचना भरी समेस्या, व शिकायत में स्पष्ट झलक रही थी।

देखिये आगे क्या होता हैं?
जिस पर सब की नजरे टिकी है। ।

अन्य अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें| आप हमें ट्वीटर पर भी फॉलो कर सकते हैं| आप हमारा एंड्राइड ऐप भी डाउनलोड कर सकते है|

loading...

Check Also

सिंगरौली जिले के सर्किट हाउस के सभागार में संयुक्त श्रमजीवी पत्रकार महासंघ की वैठक

आज सिंगरौली जिले के सर्किट हाउस के सभागार में संयुक्त श्रमजीवी पत्रकार महासंघ ( AIUWJU) …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com