Home >>> धर्म

धर्म

जन मानस रमेन्द्र पाण्डेय

भरत जी विकल होकर मर्मस्पर्शी विलाप करने लगे – ” श्री राम के वन जाने का कारण मैं ही था और उनकी ऐसी दुखद परिस्थिति में भी कष्ट देने वाला अपराधी हुआ। पता नहीं मुझे कितना अपयश भोगना है, विधाता ही मेरे प्रतिकूल है । हाय! मैं मारा गया, हाय! …

Read More »

जन मानस रमेन्द्र पाण्डेय

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के पास अंगद के वापस आ जाने पर तथा यह समझकर कि श्री राम संधि के बहुत इच्छुक हैं, रावण ने लोहिताक्ष नामक राक्षस के मध्यम से श्री राम के पास संदेश भिजवाया कि “हे राम! यदि तुम परशुराम से गृहीत ‘ परशु – विजय पत्र …

Read More »

जन मानस रमेन्द्र पाण्डेय

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम ने सेतु बंध जाने पर समुद्र पार करने की तैयारी पूरी करते हुए लंका में प्रवेश करते समय पुल के उदघाटन में श्री शिव की प्रतिष्ठा अर्चना किया। आर्य संस्कृति में यज्ञ हवन के द्वारा देव अर्चना की विधि हैऔर द्रविड़ संस्कृति में चंदन, पत्र, पुष्प, …

Read More »

जन मानस रमेन्द्र पाण्डेय

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम ने एक माह की अवधि विशेष को सुनकर तुरन्त लंका की युद्ध यात्रा प्रस्तावित कर दिया तथा सम्पूर्ण वानरी सेना सहित राजा सुग्रीव, नर्मदा तट प्रदेश का मंत्री जाम्बवान और वीर हनुमान को लेकर लंका पर चढ़ाई कर दिया । समुद्र किनारे सैन्य शिविर स्थापित करके …

Read More »

जन मानस रमेन्द्र पाण्डेय

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के चरित्र और संयम का स्पष्टीकरण करते हुए हनुमान जी ने कहा कि श्री राम ब्रह्मचर्य व्रत का पालन भलीभांति करते हैं । वे धनुर्वेद तथा अन्य वेद – वेदाङों के परिनिष्ठित विद्वान हैं ।यजुर्वेद की भी उन्हें भलीभांति शिक्षा मिली है ।वैदिक विद्वानों में उनका …

Read More »

*भक्ति के रंग में रंगा चिरहुला नाथ मंदिर प्रांगण ,संगीतमय श्रीमद भागवत कथा का विशाल आयोजन* रिपोर्ट प्रमोद मिश्रा

* संगीत मय श्रीमद् भागवत कथा का विशाल आयोजन दिनांक 3 से चिरहुला नाथ मंदिर में कथा का दूसरा दिन ठाकुर जी की आरती कथा का हुआ प्रारंभ संजय त्रिपाठी जी ने किया आरती ठाकुर जी की* चिरहुला नाथ की कृपा से सावन मास के पावन उपलक्ष में राष्ट्रीय प्रवक्ता …

Read More »

*अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय त्रिपाठी जी की पत्रकार वार्ता संपन्न* प्रमोद मिश्रा वरुण सोनी की रिपोर्ट रीवा से

*रीवा ब्राह्मण समाज ने पूरे भारत में श्री राम महायज्ञ श्री मदृ भागवत कथा एवं रुद्राभिषेक के कार्यक्रम का श्रखलाबध्द आयोजन का प्रस्ताव पारित किया है श्रीमद् भागवत कथा एवं रुद्राभिषेक का कार्यक्रम दिनांक 3 अगस्त दिन शुक्रवार से 9 अगस्त तक का आयोजन किया जा रहा है इस कार्यक्रम …

Read More »

” सम्पूर्ण श्रीमद्भगवद्गीता ” गतांक से आगे- (301) अठारहवाँ अध्याय : मोक्षसंन्यासयोग बुद्धेर्भेदं धृतेश्चैव गुणतस्त्रिविधं शृणु। प्रोच्यमानमशेषेण पृथक्त्वेन धनंजय ।।29।। प्रवृत्तिं च निवृत्तिं च कार्याकार्ये भयाभये। बन्धं मोक्षं च या वेत्ति बुद्धि: सा पार्थ सात्त्विकी ।।30।।

हे धनञ्जय! अब मैं प्रकृति के तीनों गुणों के अनुसार तुम्हें विभिन्न प्रकार की बुद्धि तथा धृति के विषय में विस्तार से बताऊँगा, तुम इसे सुनो, हे पृथा पुत्र वह बुद्धि सतोगुणी है, जिसके द्वारा मनुष्य यह जानता है कि क्या करणीय है और क्या नहीं है, किससे डरना चाहिये …

Read More »

” सम्पूर्ण श्रीमद्भगवद्गीता ” गतांक से आगे- (300) अठारहवाँ अध्याय : मोक्षसंन्यासयोग मुक्तसङ्गोऽनहंवादी धृत्युत्साहसमन्वित:। सिद्ध्यसिद्ध्योर्निर्विकार: कर्ता सात्त्विक उच्यते ।।26।।

जो वयक्ति भौतिक गुणों के संसर्ग के बिना अहंकाररहित, संकल्प तथा उत्साहपूर्वक अपना कर्म करता है और सफलता अथवा असफलता में अविचलित रहता है, वह सात्त्विक कर्ता कहलाता हैं। सज्जनों, भगवद्भक्त वयक्ति सदैव प्रकृति के गुणों से अतीत होता है, उसे अपने को सौंपे गये कर्म के परिणाम की कोई …

Read More »

जन मानस। रमेन्द्र पाण्डेय

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम एवं लक्ष्मण जी से श्री हनुमान जी महाराज ने भेंट करके उनसे संस्कृत भाषा में बात किया था जिसको सुनकर श्री राम का मुख प्रसन्नता से खिल उठा था और लक्ष्मण से कहा था कि लक्ष्मण! ये वानरराज सुग्रीव के मंत्री हैं, उन्हीं की हितकामना से …

Read More »
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com